Menu Close

घर पर मेडिकल ऑक्सीजन सिलेंडर का उपयोग कैसे करें?

आवश्यकताएँ:-

1. गैस से भरा मेडिकल ऑक्सीजन सिलेंडर

2. FA वाल्व / ऑक्सीजन सिलेंडर रेगुलेटर

3. 3 in 1 स्पैनर या 25/28 रिंच और सिलेंडर खोलने की चाभी

4. Breathing मास्क (बच्चे या वयस्क) या Nasal Canula

5. ऑक्सीमीटर (शरीर के ऑक्सीजन स्तर को मापने के लिए)

6. सिलेंडर ट्रॉली

ऑक्सीजन सिलेंडर के विभिन्न आकार और प्रकार हैं:-

स्टैण्डर्ड (SS स्टील के साथ बनाया गया) “बी टाइप” छोटे और बड़े

पोर्टेबल (एल्युमिनियम से बनाया गया) हल्का, संचालित करने के लिए अधिक आसान, मध्यम और बी प्रकार के आकार में आता है। यह ढोने में आसान और यात्रा के लिए भी अच्छा है।

सलाह: पहले डॉक्टर से सलाह लें और फिर सेटअप और ऑपरेट करने के लिए किसी नर्स या कंपाउंडर की सेवाएं लें।

हम यह सुनिश्चित करते हैं:-

1. वितरण करते समय, किसी भी दिए गए सिलेंडर में गैस की मात्रा को प्रेशर गेज के माध्यम से सत्यापित किया जाता है।

2. एक भरा हुआ बड़ा सिलेंडर प्रेशर गेज पर लगभग 130 PSI दिखाएगा और उपयोग के साथ यह धीरे-धीरे घटकर 0 हो जाएगा। एक बार दबाव 10 से 20 PSI के बीच पहुंचने पर इसे फिर से भरना उचित होगा।

3. हम यह भी सुनिश्चित करते हैं कि इसमें किसी प्रकार का कोई लीकेज नही है।

उपयोग हेतु निर्देश:-

1. सुनिश्चित करें कि सिलेंडर को एक खुली जगह में सीधा रखा गया हो तथा इसे बच्चों की पहुंच से दूर रखें।

2. अब FA वॉल्व/रेगुलेटर को ऑक्सीजन सिलेंडर के वॉल्व से जोड़ें।

कृपया यह सुनिश्चित करें कि:- *जब रेगुलेटर सिलिंडर वाल्व से जुड़ा हो उस दौरान रेगुलेटर को टाइट करने हेतु कोई भी लुब्रिकेशन इस्तेमाल न किया जाये।

सुनिश्चित करें कि:-*रेगुलेटर का नॉब अच्छी तरह बंद हो गया है और प्रेशर गेज 0 psi पर है।

*अब स्पैनर की मदद से ऑक्सीजन सिलेंडर वाल्व के ऊपर लगे स्पिंडल को खोलें।

*अब ऑक्सीजन रेगुलेटर पर दिए जाने वाले फ्लो मीटर के नीचे से ऑक्सीजन निकलने लगेगी। ऑक्सीजन के फ्लो को  कंट्रोल करने के लिए रेगुलेटर की नॉब का उपयोग करें।

*ऑक्सीजन लीटर प्रति मिनट में दी जाती है जो कि 0.5 से 10 लीटर के बीच होती है। यह सलाह दी जाती है कि इसके इस्तेमाल से पहले डॉक्टर से परामर्श करें और एक ऑक्सीमीटर का उपयोग करें।

*गैस से भरा एक छोटा मेडिकल ऑक्सीजन सिलेंडर जो कि 2 लीटर पर सेट है, वह लगभग 5.5 घंटे तक लगातार चलता रहेगा। जबकि गैस से भरा एक बड़ा मेडिकल ऑक्सीजन सिलेंडर जो कि 2 लीटर पर सेट है वह अनुमानित रूप से लगातार चलते हुए लगभग 12 घंटे तक चलेगा। इस अवधि के बाद एक भरा हुआ सिलिंडर फिर से लगाना आवश्यक है।

*उपयोग नहीं करते समय, सिलेंडर वाल्व से जुड़े ऑक्सीजन रेगुलेटर की नॉब को बंद करें। फिर ऑक्सीजन सिलेंडर के उपर दी गयी नॉब को बंद करें। सभी अटैचमेंट्स को हटा दें। सिलिंडर को एक सुरक्षित और ठंडी जगह पर रख दें और यदि आवश्यक न हो तो इसे हमारे पास वापस ले आएं।

चेतावनी: एक शान्त से दिखने वाली मेडिकल ऑक्सिजन गैस सिलेंडर में हाई प्रेशर वाली ऑक्सीजन गैस मौजूद है, जो सावधानीपूर्वक इस्तेमाल न किये जाने की स्थिति में बहुत तेज प्रेशर के साथ गैस को बाहर फेंक सकती है जिसके कारण किसी भी प्रकार की नकारात्मक स्थिति उत्पन्न हो सकती है।

डिस्क्लेमर: हम श्री बालाजी ट्रेडर्स, यह सुनिश्चित करते हैं कि हमारे द्वारा प्रत्येक सुरक्षा मानकों का पालन किया जाता है और ग्राहकों को इसके बारे में पूरी जानकारी दी जाती है। हमारे सिलेंडरों को पूरी तरह से सेनिटाइज किया जाता है।

एक बार सिलिंडर के ग्राहक के कब्जे में होने के पश्चात यह ग्राहक एवं उसके अटेंडेन्ट की पूरी जिम्मेदारी होगी कि वह इस ऑक्सीजन सिलिंडर तथा इसके अन्य उपकरणों को सावधानीपूर्वक इस्तेमाल करें। श्री बालाजी ट्रेडर्स इस ऑक्सीजन सिलिंडर द्वारा किसी भी प्रकार की क्षति या जानमाल के नुकसान हेतु किसी भी तरह से उत्तरदायी या जिम्मेदार नहीं होगा। सभी विवाद केवल गोरखपुर न्यायालय के अधीन हैं।

ध्यान दें:– हम होम डिलीवरी की सुविधा प्रदान नहीं करते हैं तथा ऑक्सीजन सिलिंडर के सेटअप हेतु भी एक प्रशिक्षित नर्स या कंपाउंडर की सेवाएं ली जानी चाहिए।

1 Comment

  1. Pingback:Gorakhpur में 3 गुना बढ़ गयी है ऑक्सीजन सिलिंडरों की मांग - GlobalReport.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: